मयंक की डायरी

"जानी-मानी ब्लॉग लेखिका अनीता सैनी का साक्षात्कार"

मित्रों!झुँझनू राजस्थान में जन्मी, जयपुर (राजस्थान) की निवासी हिन्दी ब्लॉगिंग की सशक्त लेखिकाऔर चर्चा मंचपर ब्लॉगों की चर्चाकार अनीता सैनीका साक्षा...
clicks 190  Vote 0 Vote  1:00am 29 Mar 2020

आलेख ‘‘हिन्दी संयुक्ताक्षर’’ (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)

         यदि संयुक्ताक्षर शब्द के अर्थ पर ध्यान दें तो संयुक्त + अक्षर। अर्थात् दो या दो से अधिक अक्षरों के मेल से बने अक्षरों को संयुक्ताक्षर कहते ह...
clicks 240  Vote 0 Vote  10:06am 19 Mar 2020

समीक्षा "एक फुट के मजनू मियाँ” (समीक्षक-डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

 “एक फुट के मजनू मियाँ”     कुछ दिनों पहले मुझे साधना वैद की “एक फुट के मजनू मियाँ” प्राप्त हुई मैंने सोचा कि शायद ये कोई उपन्यास होगा। लेकिन जब मैं...
clicks 304  Vote 0 Vote  11:31am 19 Nov 2018

समीक्षा "एक फुट के मजनूमियाँ” (समीक्षक-डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

 “एक फुट के मजनूमियाँ”     कुछ दिनों पहले मुझे साधना वैद की “एक फुट के मजनूमियाँ” प्राप्त हुई मैंने सोचा कि शायद ये कोई उपन्यास होगा। लेकिन जब मैं...
clicks 448  Vote 0 Vote  11:31am 19 Nov 2018

‘स्मृति उपवन’ संस्मरण साहित्य की अपूर्व निधि (डॉ. महेन्द्र प्रताप पाण्डेय)

संस्मरण साहित्य की अपूर्व निधिडॉ. महेन्द्र प्रताप पाण्डेय       हिन्दी साहित्य की विभिन्न विधाओं पर आधिपत्य रखनेवाले डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मय...
clicks 295  Vote 0 Vote  10:14am 1 Jul 2018

समीक्षा "मुखर होता मौन-ग़ज़ल संग्रह" (समीक्षक-डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

"मुखर होता मौन"ग़ज़ल संग्रहमेरी नज़र से"वियोगी होगा पहला कवि, हृदय से उपजा होगा गान।निकल कर नयनों से चुपचाप, बही होगी कविता अनजान।।"     आमतौर पर देख...
clicks 480  Vote 0 Vote  5:49pm 10 Jul 2016

"गौतम बुद्ध का मध्यम मार्ग"

भगवान बुद्ध ने लोगों को मध्यम मार्ग का उपदेश किया। उन्होंने दुःख, उसके कारण और निवारण के लिए अष्टांगिक मार्ग सुझाया। उन्होंने अहिंसा पर बहुत जोर दिया ...
clicks 503  Vote 0 Vote  5:29pm 21 May 2016

संस्मरण "ब्लॉगिंग के पुरोधा अविनाश वाचस्पति को नमन"

      कल जैसे ही इण्डरनेट खोला तो अविनाश वाचस्पति के निधन का दुखद समाचार पढ़ने को मिला। अविनाश जी से मेरे एक आत्मीय मित्र के सम्बन्ध थे। आघात सा लगा यह ...
clicks 563  Vote 0 Vote  4:52pm 9 Feb 2016

"सम्वेदना की नम धरा पर" (समीक्षक-डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

साधना वैद की साधना“सम्वेदना की नम धरा पर”    जिसको मन मिला है एक कवयित्री का, वो सम्वेदना की प्रतिमूर्ति तो एक कुशल गृहणी ही हो सकती है। ऐसी प्रति...
clicks 592  Vote 0 Vote  4:12pm 4 Jan 2016

"डोर तुम्हारे हाथों में-देवदत्त 'प्रसून'" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

मित्रों।कवि देवदत्त "प्रसून"आज हमारे बीच नहीं हैं।लेकिन उनका साहित्य अमर रहेगा।--गत वर्ष 25 नवम्बर, 2014 को मेेरे अभिन्न मित्रदेवदत्त प्रसूनका अचानक देहान...
clicks 561  Vote 0 Vote  5:51pm 18 Sep 2015
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C [ FULL SITE ]

Copyright © 20018-2019