रूप-अरूप

वेलेंटाइन डे: सीमाओं में बांधना ठीक नहीं

युवा दिलों की धड़कनों के लिए किसी महापर्व से कम नहीं है 'वेलेंटाइन डे'अर्थात 'प्रेम दिवस'। प्रत्येक वर्ष 14 फरवरी को यह मनाया जाता है। लेकिन इसे सिर्फ स्त्र...
clicks 8  Vote 0 Vote  9:44pm 14 Feb 2018

पतझड़ की आहट...

बहुत शोर है हवाओं का सरसरा रहे हैं पत्तेझूम रहे हैं पेड़ सभीधूलों का बवंडरउठ-उठ कर खिड़कियों के रास्तेबिछ रहा कमरे की फ़र्श परमन भी ज़रा अनमना सा हैब...
clicks 15  Vote 0 Vote  1:28pm 9 Feb 2018

माघी पूर्णिमा का चंद्रग्रहण.....

देखा मैंने चाँद को बढ़ते, घटतेफिर बढ़तेतिल-तिल कर आधा चाँद जब छुपा था धरती के साये मेंतब भी लगा था ख़ूबसूरतऔर जब लाल होते हुएग़ायब हुआनहीं लगा एक बा...
clicks 27  Vote 0 Vote  11:02pm 31 Jan 2018

जाने कहाँ गयी वो

जाने कहाँ गयीवोजो मेरे साथ रहती थीनहीं देखाबहुत दिनों से नाज़ुक कोंपलों परऊँगलियाँ फिरातेकबूतरों के झुंड कोधप्प से कूदकर डरातेरात कोतारों भरे आकाश ...
clicks 24  Vote 0 Vote  2:03pm 31 Jan 2018

स्वागत है बसंत तुम्हारा

प्रकृति का उत्सव है बसंत।मौसम का यौवन है बसंत। फूलों के खिलने और धरती के पीले वसन में रंगने का समय है बसंत।यौवन का प्रतिनिधित्व करता है बसंत। इस संत धरती ...
clicks 22  Vote 0 Vote  5:09pm 23 Jan 2018

"जोगिया मन का आत्मानुलाप पलाशपुष्प से"

 "मन हुआ पलाश"काव्य संग्रह_ रश्मि शर्मा" : एक पाठकीय समीक्षा - कण्डवाल मोहन मदन "तन का वनफूल खिला - खिला सा / बिछुड़ा कोई मीत कल मिला - मिला सा / अलसाई प्रीत क...
clicks 43  Vote 0 Vote  6:28pm 18 Jan 2018

वक्‍त...

वक्‍त हि‍रण की तरह कुलांचे मार रहा है। कल बेहद बेहद ठंड थी। पि‍छले कई सप्‍ताह से बेतरह ठंढ़ है। आज धूप खि‍ली है...कल.....फि‍र कल......कि‍सी के रोके से कब रूका है व...
clicks 40  Vote 0 Vote  2:04pm 17 Jan 2018

रूक गई प्राची ...

चंद्रभागा के तट पर, जहाँ समुद्र से समाहि‍त होती है नदी, आज वहीँ ,आखों में असीम आनंद लि‍ए प्राची वि‍शाल समुद्र में नदियों का मि‍लन देख रही थी, कि सहसा बालुई ...
clicks 23  Vote 0 Vote  1:50pm 17 Jan 2018

सर्दियों की धूप....

इन दिनों ज़बरदस्त इच्छा हो रही है ख़ुद के साथ रहने की । ठंड इतनी ज़्यादा है कि धूप अपने पास बुलाती लगती है। एक वक़्त था जब सर्दियों की दोपहर माँ और आस-पास क...
clicks 45  Vote 0 Vote  2:55pm 13 Jan 2018

प्यार तो करता है....

हमसे था कोई रिश्ता,इकरार तो करता हैछुप छुप के मुझे देखे,वो प्यार तो करता हैथम जाए मेरी सिसकी,मिल जाए सुकूँ थोड़ाकाँधे पे रखे सर वो ,इज़हार तो करता हैशिकवा कर...
clicks 46  Vote 0 Vote  2:33pm 8 Jan 2018
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013