रूप-अरूप

‘ज़िंदगी’

“ उजड़े दयार मेंखिलने लगे हैं अबफूल भीतेरे जाने के बाद,अब तीरगी की बात कौन करे !”‘ज़िंदगी’जी भर कर तन्हा कर दे मुझेवादा है..तुझसे मोहब्बत करती रहूँगी ।...
clicks 13  Vote 0 Vote  12:40pm 19 Jul 2019

एकांत...

टुकड़ों में नींदमुट्ठी भर यादकुछ अधूरी सी बातऔर बेहिसाब एकांतचलो कर लूं आजयादों की जुगालीकिजिंदगी में हर दरवाजाआगे की ओर नहीं खुलता.......
clicks 48  Vote 0 Vote  5:52pm 14 Jul 2019

शाम...

ढलती शाम टिमटिमाती यादेंथमी ज़िंदगी ...
clicks 31  Vote 0 Vote  11:08pm 6 Jul 2019

बारिश की पीठ.....

जाते हुएएक झलक देखी थी ....जैसे नींद में डूबा आदमीउठे, और बारिश की पीठ देखे .......
clicks 37  Vote 0 Vote  12:38pm 2 Jul 2019

यादों की कतरनों में .....

जाते-जातेकहीं ठहर जाते होजैसेपत्तियों में छुपी बारिश की कांपती कोई बूँददूर किसीघर के कोने मेंबजती कोई पहचानी सी धुनयादों की कतरनों मेंझिलमिलाता हैब...
clicks 29  Vote 0 Vote  12:33pm 1 Jul 2019

वो जब याद आए...

कि‍तनी बार कहा था उसने...नहीं जी पाऊंगा तुम बि‍न... कि‍ तुम बि‍न जीवन मौत बराबर है। मैंने भी कही थी यह बात..उसके सैकड़ों बार के जवाब में एक बार तो जरूर...मगर जी र...
clicks 46  Vote 0 Vote  1:26pm 10 Jun 2019

'प्रेम'

सोचा था एक दि‍न मुट्ठि‍यों में कसकर रख लूंगी 'प्रेम' नि‍कल भागा ऊंगलि‍यों की दरार से रेत, पानी, हवा की तरह ...
clicks 34  Vote 0 Vote  9:29pm 6 Jun 2019

“फिर....?”

“इतने सालों में कभी याद नहीं आयी?”“हर रोज़”“मिलने का सोचा एक बार भी ?”“हज़ारों बार”“फिर....?”“ फिर ......कैसे आता तुम तक?निरंतर भटकाव और उदासी...इसका अपना ही मज़...
clicks 49  Vote 0 Vote  1:54pm 2 Jun 2019

नहीं आते...

“है गिरफ़्त में अब ख़िजाँ, कुछ याद नहीं उनकोमैं बैचेन फ़लक ज़ाकिर, वो जाके नहीं आते....”...
clicks 108  Vote 0 Vote  9:36pm 8 Apr 2019

कुसुमेश्‍वर महादेव (उज्‍जैन)

महाकाल के दर्शन के लि‍ए उज्‍जैन हम अक्‍सर जाते हैं। क्‍या आपको मालूम है कि‍ इस नगरी में महादेव के 84 मंदि‍र हैं। इस श्रृखंला में 38वें नंबर पर आता है कुसुमे...
clicks 115  Vote 0 Vote  5:36pm 4 Mar 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C [ FULL SITE ]

Copyright © 20018-2019