MEGHnet

Straight line of Atheism - नास्तिकता की सरल रेखा

एक पत्रकार जेल के कैदियों का इन्टरव्यू लेने जेल में पहुंचा और एक ‘नास्तिक’ नाम वाले कैदी से पूछा - "तुम्हारा नाम नास्तिक कैसे पड़ा?"उसने बताया कि मैं पहाड...
clicks 0  Vote 0 Vote  10:17am 11 Jul 2018

Sir Chhoturam and Meghs - सर छोटूराम और मेघ

यूनियनिस्ट पार्टी की सरकारसर छोटूराम के नेतृत्व में यूनियनिस्ट पार्टी की सरकार के चलते ही मेघों को अनुसूचित जातियों की श्रेणी में जगह मिली थी. सन् 1931 की ...
clicks 4  Vote 0 Vote  8:39am 25 Jun 2018

“Who Is a Hindu, Who Is a Meghwal?”

        "The Hindu Law defines a ‘Hindu’ as a person who is not a Muslim or a Parsi or a Christian or a Jew (Mulla1966,616). As per state classification, the Meghwals are registered as belonging to the Scheduled Castes and are therefore governed by Hindu personal law in the state courts. The data shows that ‘enumerated’ Scheduled Castes such as Meghwals adapt and resist...
clicks 22  Vote 0 Vote  6:41am 20 Jun 2018

Megh Civility - मेघ-सभ्यता

जब पहली बार पता चला कि डॉ. ध्यान सिंह ने जम्मू में स्थित हमारी देरियों पर अपने शोधग्रंथ में लिखा है तो बड़ी खुशी हुई थी. उसे पढ़ कर अच्छा लगा कि कुछ तो लि...
clicks 2  Vote 0 Vote  12:25pm 31 May 2018

From Tribal Life to Caste System - क़बीलाई जीवन से जाति व्यवस्था तक

दिनांक 04 मार्च 2018 को मेघ जागृति फाउँडेशन, गढ़ा, जालंधर द्वारा आयोजित एक समारोह में अपनी बात रखते हुए डॉ. ध्यान सिंह और प्रो. के.एल. सोत्रा इस बात पर एकमत थे कि...
clicks 2  Vote 0 Vote  7:51am 22 May 2018

The Stupa of Sirsa - सिरसा का थेहड़ (स्तूप)

जब पिताजी की तब्दीली टोहाना से सिरसा हुई तो उस समय टोहाना में बीती अपनी किशोरावस्था की बहुत सारी चमकती और रोशनी में दमकती यादें लेकर मैं सिरसा गया था. पित...
clicks 3  Vote 0 Vote  2:02pm 3 May 2018

Dying process - मरने की प्रक्रिया

जरूरी नहीं कि सांसे थम जाने पर स्टेथस्कोप में जिंदगी की निशानियाँ ढूंढी जाएँ. उसके बिना भी जिंदगी की धड़कनों को सुना, देखा और महसूस किया जा सकता है. जिंदग...
clicks 3  Vote 0 Vote  2:40pm 28 Apr 2018

The Illusion of Purification - शुद्धिकरण का छलावा

‘शुद्धिकरण’ शब्द सुनने में कितना ही पवित्र शब्द क्यों न लगे लेकिन जब-जब यह किसी पिछड़े समुदाय के संदर्भ में प्रयोग हुआ है, तब-तब अपमानजनक और शरारतपूर्ण स...
clicks 25  Vote 0 Vote  8:38pm 24 Apr 2018

Echoic Words - प्रतिध्वन्यात्मक शब्द

मेरे बड़े भाई मायाधारी जी एक चुटकुला इस तरह सुनाया करते थे-एक मेघ सज्जन से एक अन्य सज्जन ने पूछा कि तुम हर शब्द को दोहरा क्यों बना देते हो, जैसे चा - शा, कलम - ...
clicks 11  Vote 0 Vote  6:47am 20 Apr 2018

Megh Chetna (Jan.-Mar. 2018) मेघ-चेतना (जन.-मार्च 2018)

ऑल इंडिया मेघ सभा, चंडीगढ़ द्वारा प्रकाशित त्रैमासिक पत्रिका ‘मेघ-चेतना’, जो मेघ समाज के सदस्यों में मुफ़्त और आंतरिक वितरण के लिए है, का जनवरी-मार्च 2018 क...
clicks 11  Vote 0 Vote  7:36am 8 Apr 2018
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013