ऋषभ उवाच

(भूमिका) इक्कीसवीं सदी के हिंदी उपन्यास : विविध विमर्श

उपन्यास को आधुनिक युग का महाकाव्य कहा जाता है. इसका कारण यह है कि इस विधा में महाकाव्य की भाँति संपूर्ण जीवन को समेटने तथा भूत, भविष्य और वर्तमान को एक साथ ...
clicks 5  Vote 0 Vote  12:42pm 21 Mar 2018

तुलनात्मक भारतीय साहित्य : अवधारणा और मूल्य

प्रो. ऋषभदेव शर्मा के कक्षा-व्याख्यानों के आधार पर डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा द्वारा लिप्यंकिततुलनात्मक भारतीय साहित्य : अवधारणा और मूल्य - प्रो. ऋषभदेव शर...
clicks 7  Vote 0 Vote  3:16am 21 Mar 2018

भारतीय साहित्य का अंतरराष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य : विविध आयाम

भारतीय साहित्य के अंतरराष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य को समझने के लिए हमें पहले यह जानना होगा कि भारतीय साहित्य का निजी परिप्रेक्ष्य क्या और कैसा है. आज  विश्...
clicks 6  Vote 0 Vote  4:39pm 27 Feb 2018

हिंदी साहित्य : विश्व परिप्रेक्ष्य

 हिंदी साहित्य के विश्व परिप्रेक्ष्य को हमें हिंदी की आज की स्थिति के सापेक्ष  विवेचित करना होगा. इसमें संदेह नहीं कि आज हिंदी  का विस्तार पूरी दुनि...
clicks 6  Vote 0 Vote  4:09pm 27 Feb 2018

(भूमिका) राष्ट्रीय स्मृति, संस्कृति और भाषा

शर्मा, हरीश कुमार. (2016), राष्ट्रीय स्मृति, संस्कृति और भाषा. इलाहाबाद : साहित्य भंडार राजीव गांधी विश्वविद्यालय, अरुणाचल प्रदेश :24 फरवरी, 2018 : पुस्तक के लेखक ...
clicks 6  Vote 0 Vote  1:13am 26 Feb 2018

अद्यतन तेलुगु कविता संग्रह ‘नया साल’ की भूमिका

नया साल (हिंदी में अनूदित तेलुगु कविताएँ)/ संपादक : मामिडि हरिकृष्ण/ अनुवादक : गुड्ला परमेश्वर द्विवागीश/ 2017/  250 रूपए  भाषा सांस्कृतिक शाखा, तेलंगा...
clicks 40  Vote 0 Vote  1:06am 14 Feb 2018

(समन्वय दक्षिण) आलूरि बैरागी चौधरी का कविकर्म

'समन्वय दक्षिण' : अप्रैल-सितंबर, 2017 : पृष्ठ 84-92 : केंद्रीय हिंदी संस्थान, हैदराबाद आलूरि बैरागी चौधरी का कविकर्म-डॉ. ऋषभ देव शर्मा धुनी जा रही दुर्बल काया ....
clicks 14  Vote 0 Vote  11:59am 27 Nov 2017

ब्रह्मोत्सव की स्मृतियाँ

तिरुमला स्थित भगवान वेंकटेश्वर के वार्षिक ब्रह्मोत्सव -2017 की अविस्मरणीय झाँकी*******ब्रह्मोत्सव का पहला दिन“””””””””””””””””””””””22 सितंबर, 2017। आज सुबह म...
clicks 12  Vote 0 Vote  2:41am 25 Sep 2017
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013