भारतीय नारी

इंदिरा गाँधी -ध्रुवतारा :... सबसे प्यारी

 जब ये शीर्षक मेरे मन में आया तो मन का एक कोना जो सम्पूर्ण विश्व में पुरुष सत्ता के अस्तित्व को महसूस करता है कह उठा कि यह उक्ति  तो किसी पुरुष विभूति को ...
clicks 0  Vote 0 Vote  10:00pm 19 Nov 2017

इकलौती पुत्री की आग की सेज-:-दहेज़

दहेज़ :इकलौती पुत्री की आग की सेज    एक ऐसा जीवन जिसमे निरंतर कंटीले पथ पर चलना और वो भी नंगे पैर सोचिये कितना कठिन होगा पर बेटी ऐसे ही जीवन के साथ इस धरत...
clicks 12  Vote 0 Vote  8:53am 14 Nov 2017

नारी तो चुभती ही हैं .

     नहटौर में एक चुनावी सभा में ''आप''नेता अलका लम्बा पर पत्थर से हमला ,कोई नई बात नहीं है .राजनीति के क्षेत्र में उतरने वाली महिलाएं आये दिन कभी शब्द भेद...
clicks 25  Vote 0 Vote  8:13pm 8 Nov 2017

माँ - एक लघु कथा

''ये शोर कैसा है ''नरेंद्र ने अपने नौकर जनार्दन से पूछा ,कुछ नहीं बाबूजी ,वो माता जी को खांसी का धसका लगा और उनसे मेज गिर गयी जिससे उसपर रखी हुई दवाइयां इधर-उध...
clicks 19  Vote 0 Vote  10:46am 4 Nov 2017

कामकाजी महिलाएं और कानून

आज यदि देखा जाये तो महिलाओं के लिए घर से बाहर जाकर काम करना ज़रूरी हो गया है और इसका एक परिणाम तो ये हुआ है कि स्त्री सशक्तिकरण के कार्य बढ़ गए है और स्त्र...
clicks 30  Vote 0 Vote  8:53pm 28 Oct 2017

अपनी हैसियत पहचान -गुलाम

अभी अभी एक नए जोड़े को देखा पति चैन से जा रहा था और पत्नी घूंघट में ,भले ही दिखाई दे या न दे किन्तु उसे अब ऐसे ही चलने का अभ्यास करना होगा आखिर करे भी क्यूँ न अब...
clicks 29  Vote 0 Vote  8:03am 27 Oct 2017

बेघर बेचारी नारी

निकल जाओ मेरे घर सेएक पुरुष का ये कहनाअपनी पत्नी सेआसानबहुत आसानकिन्तुक्या घर बनानाउसे बसानासीखा कभीपुरुष नेपैसा कमानाघर में लानाक्या मात्रपैसे से ब...
clicks 39  Vote 0 Vote  9:12pm 22 Oct 2017

दीपावली महापर्व की हार्दिक शुभकामनायें

इस बार दीपक वे जगें ,फैले उजाला प्यार का ,अंत हो इस मुल्क में मज़हबी तकरार का !.................................................................हो मिठाई से भी मीठा , मुंह से निकले बोल जो ,ये ही मौका ह...
clicks 37  Vote 0 Vote  12:13pm 18 Oct 2017

...जननी गयी हैं मुझसे रूठ .

माँ तुझे सलामवो चेहरा जो        शक्ति था मेरी ,वो आवाज़ जो      थी भरती ऊर्जा मुझमें ,वो ऊँगली जो     बढ़ी थी थाम आगे मैं ,वो कदम जो   ...
clicks 46  Vote 0 Vote  9:55pm 9 Oct 2017

गौतम से पहले मुनेश को सलाम

''दरों दीवार पे हसरत से नज़र रखते हैं ,खुश रहो अहले वतन हम तो सफर करते हैं .''    कह एलम का नौजवान गौतम पंवार भी अपने  देश पर शहीद हो गया और नाम रोशन कर गया न क...
clicks 34  Vote 0 Vote  10:45pm 8 Oct 2017
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013