DAANAPAANI

एक अजूबा है जंजीरा का किला

भारत देश के कई अजूबों के बारे में आपने सुना होगा। पर क्या आपने जंजीरा के किले के बारे में सुना है। समंदर के बीच में बना यह किला अपने आप में अजूबा है।एक जनवर...
clicks 5  Vote 0 Vote  12:00am 19 May 2019

मुरुड का समुद्र तट पर बज उठा लॉलीपॉप लागे लू...

महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले का छोटा सा शहर मुरुड में हमलोग 31 दिसंबर को पहुंचे हैं। नए साल का जश्न मनाने के लिए यहां सैलानियों की काफी भीड़ है। शहर के सभी होट...
clicks 12  Vote 0 Vote  12:00am 17 May 2019

मुरुड के समुद्र तट पर बज उठा: लॉलीपॉप लागे लू...

महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले का छोटा सा शहर मुरुड में हमलोग 31 दिसंबर को पहुंचे हैं। नए साल का जश्न मनाने के लिए यहां सैलानियों की काफी भीड़ है। शहर के सभी होट...
clicks 0  Vote 0 Vote  12:00am 17 May 2019

मुरुड का दत्ता मंदिर जिसमें समाहित हैं ब्रह्मा, विष्णु, महेश

मुरुड जंजीरा के कई आकर्षण हैं, पर उनमें से दत्त मंदिर भी एक है। ये मंदिर बाजार से एक किलोमीटर दूर ऊंची पहाड़ी पर है। यहां से शहर और समंदर का सुंदर नजारा दिख...
clicks 17  Vote 0 Vote  12:00am 15 May 2019

अलीबाग से मुरुड की ओर वाया कासिद बीच...

अलीबाग में हमारी बस से काफी लोग उतर गए हैं। तो बस खाली खाली लग रही है। अलीबाग डिपो में बस ने ईंधन लिया। हमने भी आसपास से थोड़े फल खरीदे। वैसे आपको पता है अल...
clicks 12  Vote 0 Vote  12:00am 13 May 2019

पुणे से अलीबाग वाया लोनावाला-खंडाला-पेण

कई साल पहले फेसबुक पर एक मित्र ने मुंबई के पास मुरुड में समंदर के बीच स्थित जंजीरा किला की तस्वीर साझा की थी। तभी से वहां जाने की इच्छा थी। तो इस बार पुणे स...
clicks 19  Vote 0 Vote  12:00am 11 May 2019

पांच नदियों का शहर पुणे – इंद्रायणी, मुला, मुथा, पावना और भीमा

अगर पंजाब पांच दरिया का देस है तो पुणे पांच नदियों का शहर है। मुला, मुथा, पावना, इंद्रायणी और भीमा। पर ये पांच नदियां मिलकर आजकल पुणे को समृद्ध नहीं बना पा ...
clicks 19  Vote 0 Vote  12:00am 9 May 2019

संत तुकाराम का गाथा मंदिर – देहु रोड, पुणे

आलंदी में संत ज्ञानेश्वर की पवित्र धरती पर कुछ घंटे गुजारने के बाद हमलोग अब मराठी के एक और महान विभूति संत तुकाराम की स्मृतियों को नमन करने निकल पड़े हैं...
clicks 27  Vote 0 Vote  12:00am 7 May 2019

15 साल की उम्र में लिखी गीता की मराठी टीका -ज्ञानेश्वरी

संत ज्ञानेश्वर ने आलंदी में ही 15 साल की उम्र में गीता की सरल टीका मराठी भाषा में लिखी जिसे ज्ञानेश्वरी कहते हैं। इसमें दस हजार पद्य हैं। इसका मराठी ...
clicks 27  Vote 0 Vote  12:00pm 5 May 2019

आलंदी- मराठी के महान संत ज्ञानेश्वर की पुण्य भूमि

रविवार का दिन है और हमने पुणे में आलंदी जाने का तय किया है। रवि ने सलाह दी कि एक्टिवा से जाइए। तो मैं और अनादि एक्टिवा पर सवार हुए। अनादि ने गूगल मैप ऑन किय...
clicks 22  Vote 0 Vote  12:00am 3 May 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013