My Shayari

बैठी हुई आँखे हैं

बैठी हुई आँखें हैंऔर सूखे हुए गाल।कुछ ठीक नहीं लगता तुम्हारा ये हाल।जहर बन जाएगाजो दिल में छुपा रखा है।तू बाहर बहने दे आंसूगम अपना निकल।....... मिलाप सिंह ...
clicks 1  Vote 0 Vote  8:15pm 2 Jul 2018

Badnam shayari

...
clicks 24  Vote 0 Vote  9:25am 4 Apr 2018

Badnan shayari

अच्छा नहीं है ये काम न करो।बेटी किसी की यारो बदनाम न करो।दफ़न करो बातें मिट्टी डालकर ।ये बेआबरू की बातें तुम आम न करो।....... मिलाप सिंह भरमौरी...
clicks 13  Vote 0 Vote  7:34am 4 Apr 2018

अवसर

यहां तु ही नहीं अकेला है कहना ओर भी कई मोड चुके हैं।अपने किए हुए वादे &...
clicks 16  Vote 0 Vote  4:09pm 1 Apr 2018

वक़्त जुदाई का

दिल धीरे - धीरे घवरा जाता है।जब वक़्त जुदाई का आ जाता है।पल साथ बिताए याद आते हैंऔर आंखों में पानी आ जाता हैै ।क्यों खुशियां हर पल देता नहीं हैक्यों कहर खु...
clicks 15  Vote 0 Vote  8:49am 11 Mar 2018

एक वक़्त था

बीत गया वक़्त जो साथ गुजारा था।जब हर दिन हर लम्हा प्यारा था।हमेशा न थ&...
clicks 15  Vote 0 Vote  1:35pm 9 Mar 2018

नफरतें न बढाया करो

नफरतें  न   बढाया   करो।अच्छा है  मुस्कुराया  करो।जीने  को  लिए है यह पलहर पल जी को आया करो।गम  रोके  जो आके  कभीतुम भी गम को चिढाया करो।ज...
clicks 61  Vote 0 Vote  10:21pm 12 Feb 2018

खुद से करके देखें वैर

बात हुई जब खुद की तोकह दिया झटसे छौडो खैर।सच को हवा बताने वाले झूठ के ग...
clicks 68  Vote 0 Vote  9:14pm 17 Jan 2018

लगन बनेगी सबल जीत की

चारों ओर दिवारे हैं ।कुछ लम्हें मीठे खारे हैं।उलझ गया है किस उलझन मे&#...
clicks 64  Vote 0 Vote  9:17pm 16 Jan 2018

कोख में बेटियां मार कर

क्यों बहशी बन रहा  हदें शराफतों की लांघ कर।अँधेरे में खो गया  है तू ख...
clicks 32  Vote 0 Vote  4:49pm 5 Jan 2018
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013