आपका-अख्तर खान "अकेला"

इलेक्शन फोबिया के मरीज़ों की संख्या,

इलेक्शन फोबिया के मरीज़ों की संख्या,, इन चुनावों में पहले से पांच गुना बढ़ सकती है ,,एक विशेषज्ञ रिपोर्ट के अनुसार ,,देश में होने वाले लोकसभा ,विधानसभा ,सहित ...
clicks 4  Vote 0 Vote  6:47am 20 Oct 2018

हाड़ोती के इतिहासविद ,,लेखक डॉक्टर याक़ूब अली

हाड़ोती के इतिहासविद ,,लेखक डॉक्टर याक़ूब अली द्वारा लिखित पुस्तक मुस्लिम मोनुमेंट्स ऑफ़ राजस्थान ,,इतिहास छात्र छात्रों ,शोधार्थियों के लिए बहुउपयोगी प...
clicks 0  Vote 0 Vote  6:46am 20 Oct 2018

इसमे भी यक़ीनन बड़ी इबरत है

बेशक इसमे भी यक़ीनन बड़ी इबरत है और उनमें से बहुतेरे इमान लाने वाले ही न थे (121)और इसमें तो शक ही नहीं कि तुम्हारा परवरदिगार (सब पर) ग़ालिब मेहरबान है (122) (इसी ...
clicks 0  Vote 0 Vote  6:43am 20 Oct 2018

एडवोकेट सलीम मोहम्मद खान का बस यही एक है नारा

तिरंगा जान है हमारी ,तिरंगा शान है हमारी ,यह तिरंगा ऊँचा रहे सदा हमारा ,,एडवोकेट सलीम मोहम्मद खान का बस यही एक है नारा ,,,,शाह ब्रादरी के प्रदेश संयोजक एडवोक...
clicks 6  Vote 0 Vote  8:10am 19 Oct 2018

खम्माघणी संस्कृति के अलम्बरदार ,विनम्रता ,,सहज ,, सरलता ,,की मिसाल ,एक अभिमन्यु

खम्माघणी संस्कृति के अलम्बरदार ,विनम्रता ,,सहज ,, सरलता ,,की मिसाल ,एक अभिमन्यु जो कई चक्रव्यूह चीर कर ,,स्वाभिमान की जंग में अव्वल है ,वोह अभिमन्यु एक सिंह ह...
clicks 2  Vote 0 Vote  8:08am 19 Oct 2018

"भीड़ मर गयी गैलीलियो नहीं मरा

*"भीड़ मर गयी गैलीलियो नहीं मरा"*हम सब को बहुत गुस्सा आता है *जब हम पढते हैं कि किस तरह क्रूर ईसाई धर्मान्धों ने गैलीलियो को जिंदा जला दिया था !* गैलीलियो का ग...
clicks 1  Vote 0 Vote  8:07am 19 Oct 2018

मुझे क्या ख़बर

तो हम तुम पर क्या इमान लाए (111)नूह ने कहा ये लोग जो कुछ करते थे मुझे क्या ख़बर (और क्या ग़रज़) (112)इन लोगों का हिसाब तो मेरे परवरदिगार के जि़म्मे है (113)काश तुम (इतन...
clicks 0  Vote 0 Vote  8:02am 19 Oct 2018

उपतहसील मण्डाना में बन्दरो के जानलेवा घातक हमलो

"उत्थान ए हैल्पिंग हैण्ड संस्था" के सौजन्य से उपतहसील मण्डाना में बन्दरो के जानलेवा घातक हमलो से स्थानीय निवासियों एवं राहगीरों की सुरक्षा हेतु बन्दरो...
clicks 8  Vote 0 Vote  7:36am 18 Oct 2018

दिलचस्प घटना

कल एक दिलचस्प घटना हुई।एक होटल में एक आदमी दाल रोटी खा रहा था।अच्छे परिवार का बुजुर्ग था । खाने के बाद जब बिल देने की बारी आई तो वो बोला कि उसका पर्स घर मे...
clicks 1  Vote 0 Vote  7:35am 18 Oct 2018

बेशक इसमे भी यक़ीनन बड़ी इबरत

बेशक इसमे भी यक़ीनन बड़ी इबरत है और उनमें से बहुतेरे इमान लाने वाले ही न थे (121)और इसमें तो शक ही नहीं कि तुम्हारा परवरदिगार (सब पर) ग़ालिब मेहरबान है (122) (इसी ...
clicks 1  Vote 0 Vote  7:34am 18 Oct 2018
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013