Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
है बदरी-केदार की, महिमा अपरम्पार। मोदी मन्नत माँगने, आये  हर के द्वार।।सारी बाधायें हरो, हे बदरी-केदार।सिंहासन की नाव को, लगा दीजिए पार।।निष्कण्टक शासन करूँ, राह करो आसान।भोले बाबा भक्त को, दे देना वरदान।। जी.यस.टी. की भूल को, माफ करो भगवान।नोटों की बन्दी नहीं, होगी अब ...
clicks 0 View   Vote 0 Vote   11:15am 19 May 2019
Blogger: प्रमोद जोशी at जिज्ञासा...
कोलकाता में बीजेपी रैली के दौरान हुए उत्पात और ईश्वर चंद्र विद्यासागर कॉलेज में हुई हिंसा के लिए कौन जिम्मेदार है और प्रतिमा किसने तोड़ी, ऐसे सवालों पर बहस किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुँचने वाली है। इस प्रकरण से दो बातें स्पष्ट हुई हैं कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी और तृणमू...
clicks 1 View   Vote 0 Vote   7:49am 19 May 2019
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at चर्चामंच...
स्नेहिल अभिवादन    रविवासरीय चर्चा में आप का हार्दिक स्वागत है|   देखिये मेरी पसन्द की कुछ रचनाओं के लिंक |    अनीता सैनी  ----  दोहे  "हिंसा का परिवेश"   (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)  roopchandrashastri at   उच्चारण  ------ इन्साफ का इन्कलाब।  विश्वमोहन at   गलथेथरई   ------ चले ...
clicks 0 View   Vote 0 Vote   4:00am 19 May 2019
Blogger: माधवी रंजना at DAANAPAANI...
भारत देश के कई अजूबों के बारे में आपने सुना होगा। पर क्या आपने जंजीरा के किले के बारे में सुना है। समंदर के बीच में बना यह किला अपने आप में अजूबा है।एक जनवरी की सुबह हमलोग जंजीरा के किले की तरफ चल पड़े हैं। किले पानी के बीच है इसलिए यहां तक पहुंचने के लिए स्टीमर चलती है। अ...
clicks 6 View   Vote 0 Vote   12:00am 19 May 2019
Blogger: माधवी रंजना at ........लालकिला...
( महिला सांसद - 66 ) देश की पहली महिला लोकसभा अध्यक्ष बनने का रिकॉर्ड मीरा कुमार के नाम है। उनके नाम तीन अलग अलग राज्यों से चुनाव जीतकर संसद में पहुंचने का भी रिकॉर्ड है। पहली बार यूपी के बिजनौर से लोकसभा में पहुंची थीं। फिर दो बार दिल्ली के करोलबाग और बिहार के सासाराम से द...
clicks 1 View   Vote 0 Vote   12:00am 19 May 2019
Blogger: PAWAN KUMAR at My Journey...
Blank Dairy -----------------How I pass time in spare moments, is it full use or just time passIn this life people do amazingly, I have not much reflected yet.Office duty hours are same for all; but limitation in personal useWhat I do when free, enough time available for self-development.Much song is embedded in, but not coming out because of inactivityReading poetry couplets or some book & posting a few is what I do.What BIGGEST can think for self, often docile in before sleep-hoursWhy don’t achieve cherished goals, projects in hand not completed.Just one rejection or turn down & sitting silently, how will move aheadPublish Kalidasa work immediately, besides Kadambari typing ...
clicks 5 View   Vote 0 Vote   9:18pm 18 May 2019
Blogger: rozkiroti at रोज़ की रोटी -...
      मेरे बच्चे जब छोटे ही थे तो वह बाहर हमारे घर के बगीचे में खेला करते थे, जो इंग्लैण्ड के मौसम के कारण बहुधा गीला ही रहता था। इस कारण वे खेलते हुए कीचड़ और मिट्टी से गंदे हो जाते थे। उनके तथा अपने घर के फर्श की भलाई के लिए मैं उनके घर में घुसते समय दरवाज़े पर ही उनके ...
clicks 4 View   Vote 0 Vote   8:45pm 18 May 2019
Blogger: jayant sahu at चहलकदमी...
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); रायपुर.ए। छत्तीसगढ़ प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा, बारी वाकई विकास की नई इबारत लिखेगी। छत्तीसगढ़ गांवों का प्रदेश है यहां की अधिकांश आबादी गांव में बसी है तो जाहिर है ग्राम्य जीवन शैली में बदलाव भी जरूरी है। और वह बदलाव जब&nbs...
clicks 4 View   Vote 0 Vote   3:41pm 18 May 2019
Blogger: Jagdanand Jha at Sanskritbhashi संस्कृ...
जीवनी 1. गौतम बुद्ध का जन्म कब हुआ था? (क)  563 ई०पू०            (ख) 780 ई०पू० (ग)  175 ई०पू०            (घ) इनमें से कोई नहीं उत्तर : 563 ई०पू० 2. गौतम बुद्ध का जन्म स्थान का नाम क्या है? (क)  कपिलवस्तु के लुम्बनी (ख) कुशीनगर (ग)  वाराणसी                (घ) गया उत्तर : कपिलवस्तु के लुम्बिनी 3. गौतम बुद...
clicks 15 View   Vote 0 Vote   11:51am 17 May 2019
Blogger: सागर नाहर at गीतों की महफि...
कई सालों पहले इस बांग्ला गीत का टुकड़ा मिला तब यह मुश्किल से तीस चालीस सैकंड का था, बरसों तक खोजने के बाद एक दिन आखिरकार यह  पूरा गाना मिल गया। तब से मैं इस गीत को अगड़म बगड़म गाते हुए सुन रहा था। कुछ दिनों पहले शुभ्रा जीजी (सम्प्रति : आकाशवाणी दिल्ली) से अनुरोध किया तो उ...
clicks 7 View   Vote 0 Vote   10:00am 17 May 2019
Blogger: Asha News at Jhabua News, News Jhabua Today, झ...
 झाबुआ। संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनाव के तहत मतदान आगामी 19 मई को होगा, जिससे पूर्व जिला मुख्यालय झाबुआ पर शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाएं रखने के उद्देय जिला पुलिस बल ने शहर में फलेग मार्च निकाला। फ्लैग मार्च का उद्देश्य आमजन निर्भीक, निर्भय होकर अपना मतदान कर सक...
clicks 11 View   Vote 0 Vote   11:39am 16 May 2019
Blogger: Amit Mishra at Amit Mishra...
आजकल मार्केट में एक नई खेप आयी है मोटिवेशनल स्पीकर्स की जो बच्चों को सिखाते हैं कि आप अपने मार्क्स पर ध्यान मत दीजिए... बिन&...
clicks 11 View   Vote 0 Vote   11:17am 16 May 2019
Blogger: प्रमोद जोशी at Gyaankosh ज्ञानकोश...
इस सवाल का जवाब समझना आसान नहीं है, क्योंकि धरती घूमती रहती है। इसलिए सबसे पहले कौन सा इलाका सूर्य के सामने सबसे पहले आता है कहना मुश्किल है। मनुष्य ने धरती को अक्षांश, देशांतर के मार्फत विभाजित किया है। धरती के गोले पर उत्तरी ध्रुव से दक्षिणी ध्रुव तक जो काल्पनिक देशा...
clicks 15 View   Vote 0 Vote   9:46am 16 May 2019
Blogger: Udantashtari in UFOs Kitchen at UFO'S KITCHEN...
Ingredients:खुसखुस- Couscous – 1 cupगरम पानी Warm Water– 1 1/2 cupऑलिव आयल – Olive Oil – 1 tea spoonनमक – Salt– 1 Tea Spoonअंकुरित मूँग – Sprouted Moong – 2 Cupहरी मिर्च - Green Chilli - 1खीरा ककड़ी – Cucumber – 1धनिया पत्ती – Coriander – small bunchटमाटर – Tomato– 2सेब – Apple – 1निंबू  Lime – ½काली मिर्च - Black Pepper – ½ Tea Spoonकाला नमक – Black Salt (Rock Salt)– 1 /4 Tea SpoonOur FB page:https://www.facebook.com/ufoskitchenSubscribe to our recipe by email:http://www...
clicks 20 View   Vote 0 Vote   7:37am 16 May 2019
Blogger: Akhillesh Upadhyaya at स्वदेशी गौ मद...
बाँझपन *विवाह संस्कार में गोदान किया जाता है, हाथी दान क्यों नही?*गाय तो दो सौ रूपये से लेकर हजारो की आ जाती है. हाथी का मूल्य तो लाखो में होता है. भैंस भी महगी है परन्तु भैंस का दान भी नही होता. *गोदान ही क्यों?*इसमें एक बहुत बड़ा रहस्य छिपा है. गौ की सेवा करने से निःसंतानों के ...
clicks 19 View   Vote 0 Vote   3:47pm 15 May 2019
Blogger: Gagan Sharma at कुछ अलग सा...
वर्षों से काठ की हांडी में खिचड़ी के सपने दिखाने वालों को किनारे कर दिया गया। सबकी समझ में आ गया था कि इंसान रहेगा तभी धर्म-जाति भी रह पाएगी ! मुफ्तखोरों को भी इशारों से समझा दिया गया कि मेहनत सभी को करनी पड़ेगी, यह नहीं कि सरोवर की काया पलट हम करें और तुम बर्तन ले क...
clicks 10 View   Vote 0 Vote   12:47pm 15 May 2019
Blogger: yashvardhan srivastav at कविता संकलन ...
अच्छा लगता है वो तितलियों काउड़ना।अच्छा लगता हैवो फूलों कामहकना।।अच्छा लगता है वो चिड़ियों का चहकना।अच्छा लगता है वो हवा काबहकना।।अच्छा लगता है वो बारिश काबरसना।अच्छा लगता है वो इन्द्रधनुष काबनना।।अच्छा लगता है वो सुबह की सैर करना।अच्छा लगता है ...
clicks 14 View   Vote 0 Vote   10:10am 15 May 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]

 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013